अनाथ हिंदू बच्चे को गोद लेकर करा दिया खतना, मुँहबोले माता पिता समेत 5 पर मुकदमा दर्ज

- Advertisement -

उत्तरप्रदेश
गाजियाबाद/स्वराज टुडे: गाजियाबाद में आठ साल के बच्चे के धर्मांतरण का मामला सामने आया है। एक मुस्लिम फैमिली ने इस हिन्दू बच्चे को अवैध तरीके से गोद लिया और कुछ दिन बाद ही उसका खतना कराकर धर्म परिवर्तन करा दिया। इस पूरे मामले से जुड़ी एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। पुलिस ने वीडियो का स्वतः संज्ञान लिया और बच्चे को शुक्रवार शाम मुक्त कराते हुए उसे गोद लेने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल बच्चे को बालगृह में रखा गया है।

मां की सहेली ने बच्चे को पाला-पोसा

पुलिस ने बच्चे से पूछताछ की तो उसकी दर्द भरी दास्तां सामने आ गई। बच्चे की उम्र 8 साल है। ये मूल रूप से बिहार में औरंगाबाद के रफीगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है। बच्चे ने बताया कि जब वह बहुत छोटा था तो उसकी मां अंशु की ट्रेन से कटकर मौत हो गई थी। पिता कौन है, जिंदा है भी या नहीं, इस बारे में उसे आज तक आज तक कुछ नहीं पता। मां की सहेली सोनी उर्फ कुन्नी देवी और उसके पति मिथलेश यादव ने ही उसे पाला-पोसा।

विगत 7 अप्रैल को स्टैम्प पेपर पर हुआ गोदनामा

सोनी-मिथलेश गाजियाबाद में बुलंदशहर रोड स्थित लोहा मंडी में मजदूरी करते हैं और वहीं रहते हैं। यहां पर और भी बहुत सारे मजदूर काम करते हैं, जिसमें बुलंदशहर जिले के जुल्फिकार, उमर मोहम्मद और इसकी पत्नी बबली भी एक हैं। 7 अप्रैल 2022 को उमर मोहम्मद को जुल्फिकार के माध्यम से सोनी-मिथलेश ने इस बच्चे को गोद दिलवाया। इसमें सिर्फ 50 रुपए के स्टैम्प पर गोद लेने की बात लिखवाई गई।

पहले खतना, फिर कराया धर्मांतरण 

गोद लेने के बाद उमर मोहम्मद और बबली उसको बुलंदशहर ले गए। बुलंदशहर में उमर का पैतृक घर है। उस घर में मुस्लिम रीति रिवाज से जो कुछ होता था, वो सब उस पर भी करने का दबाव बनाया जाता था। ऐसा न करने पर उसके साथ कई बार मारपीट भी की जाती थी। उमर मोहम्मद ने उसका एक दिन खतना करा दिया। बच्चा खूब रोया, चीखा-चिल्लाया, लेकिन किसी ने उसकी नहीं सुनी। वह खून से लथपथ होकर घंटों तड़पता और रोता रहा। बच्चे ने बताया, उसके पास कोई और रास्ता नहीं था, इसलिए धीरे-धीरे वह वो चीजें करने लगा, जो मुस्लिम धर्म में होती हैं। कुल मिलाकर उसका धर्म परिवर्तन करा दिया गया।

सोशल मीडिया पर डाला वीडियो

20 दिन पहले बच्चा वापस गाजियाबाद की लोहा मंडी में आ गया। चार-पांच दिन पहले राजेश नाम का एक शख्स बच्चे के पास पहुंचा। बच्चे ने राजेश को पूरी आपबीती बताई। राजेश ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया। इसके बाद हड़कंप मच गया। वीडियो वायरल होने के बाद गाजियाबाद पुलिस ने इसका स्वत: संज्ञान लिया।

बच्चे को बालगृह भेजा गया

कविनगर थाने के सब इंस्पेक्टर यशपाल सिंह, कांस्टेबल हरीश तिवारी शुक्रवार को गाजियाबाद की लोहा मंडी में पहुंचे। यहां उन्हें बच्चा मिल गया। बच्चे को रिकवर करते हुए पुलिस ने उसका धर्मांतरण कराने वाले उमर मोहम्मद को अरेस्ट कर लिया। पुलिस ने बच्चे को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया। बोर्ड के आदेश पर बच्चे को धरोदा बालगृह भेजा गया।

मुंहबोले मां-बाप समेत पांच पर मुकदमा दर्ज

पुलिस ने वीडियो को संज्ञान में लेते हुए बच्चे की मुंहबोली मां सोनी, पिता मिथलेश यादव, उसे गोद लेने वाले उमर मोहम्मद और उसकी पत्नी बबली समेत मीडिएटर जुल्फिकार के खिलाफ धर्म परिवर्तन की धारा में केस दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि उमर मोहम्मद द्वारा बच्चे को गोद लेने की प्रक्रिया पूरी तरह अवैध है। अगर बच्चे को गोद लेने में कहीं भी रुपयों का लेनदेन हुआ है तो इसमें चाइल्ड ट्रैफिकिंग की धाराएं भी बढ़ाई जाएंगी।

 

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
502FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

अधिवक्ता संघ चुनाव के मतपत्रों की गिनती फिर से होः अधिवक्ता...

जिला अधिवक्ता संघ चुनाव में गड़बड़ी की आशंका को लेकर अधिवक्ताओं के एक वर्ग ने चुनाव अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर पुनः मतगणना कराए...

Related News

- Advertisement -