अन्तर्राजीय ठग गिरोह के 2 सदस्य जिले में गिरफ्तार, 16 नग एटीएम कार्ड बरामद

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे: पुलिस द्वारा ऑनलाइन ठग गिरोह के 02 सदस्यों को गिरफ्तार एक उनके पास से 16 नग एटीएम बरामद किया गया है , आरोपीगण को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है ।

अनेक राज्यों तक फैले हैं ठगों के तार

पुलिस अधीक्षक कोरबा श्री संतोष सिंह को विश्वस्त सूत्रों से सूचनाएं मिल रही थी कि उत्तर प्रदेश , बिहार सहित अन्य राज्यों से ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के कुछ सदस्य जिले में सक्रिय हैं , जिनके द्वारा ठगी किया गया रकम ट्रांसफर करने के लिए बैंक खाता एवं एटीएम कार्ड की व्यवस्था कर अपने सरगना तक पहुंचा रहे हैं ।

उक्त सूचना के तस्दीक एवं कार्यवाही हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक वर्मा के मार्गदर्शन , नगर पुलिस अधीक्षक सुश्री लितेश सिंह के पर्यवेक्षण में सायबर सेल प्रभारी उपनिरीक्षक कृष्णा साहू एवं थाना प्रभारी दीपका निरीक्षक अनिल पटेल के साथ अधिकारी कर्मचारियों का टीम बनाकर गोपनीय तरीके से पतासाजी किया जा रहा था ।

ऐसे देते थे ठगी की वारदात को अंजाम

इसी दौरान प्रार्थी सुभाष राव पिता मायाधर राव के द्वारा थाना दीपका में रिपोर्ट दर्ज कराया गया कि आरोपी अजय सिंह कंवर के द्वारा कंपनी में लेबर पेमेंट के नाम पर इसके पत्नी का एटीएम कार्ड और पिन ले लिया है , बैंक में जाकर पता करने पर लगभग 2 से ढाई लाख रुपए का ट्रांजैक्शन हुआ है , जो कि अजय सिंह कंवर के द्वारा धोखाधड़ी किया जा रहा है ।

मामले में थाना दीपका में आरोपी अजय सिंह कंवर के विरुद्ध अपराध धारा 420 भादवि के अंतर्गत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।
आरोपी अजय सिंह कंवर को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर बताया कि लगभग 2 साल पहले अपने साथी अनिल कुमार केंवट के साथ अंबिकापुर गया था जहां बिहार पटना निवासी एक व्यक्ति से पहचान हुई थी , जिसने कहा कि एक एटीएम कार्ड के बदले में 5000 रुपए कमीशन मिलेगा , तब से रकम कमाने के लालच में दोनो मिलकर करीब 70 एटीएम कार्ड अभी तक ठग गिरोह के सरगना तक पहुंचा चुके हैं ।

16 नग एटीएम हुए बरामद 

आरोपीगण अजय सिंह कंवर एवं अनिल कुमार केवट ने पूछताछ पर स्वीकार किया कि लगभग 70 नग एटीएम कार्ड अपने सरगना को पटना बिहार में ले जाकर दे चुके हैं , वर्तमान में अलग-अलग बैंकों के 16 एटीएम अलग-अलग व्यक्तियों से धोखे से लेकर रखे हैं , जिसे आरोपीगण के निशानदेही पर जप्त कर लिया गया है ।

कंपनी में कार्यरत कर्मचारियों का तनख्वाह खाते में आने का झांसा देकर मांगते थे एटीएम कार्ड

ठग गिरोह के सदस्य दीपका के आसपास के क्षेत्र में घूम कर सीधे सादे लोगों को यह कहकर कि हम लोग कंपनी में काम करते हैं , कंपनी के द्वारा सभी कर्मचारियों को बैंक खाता के माध्यम से तनख्वाह दिया जाता है , किंतु कुछ कर्मचारियों का बैंक में खाता नहीं है जिससे उनका तनख्वाह नहीं मिल पा रहा है , उन कर्मचारियों का तनख्वाह खातों में जमा होगा जिसे एटीएम के माध्यम से आहरण करेंगे , कुछ रकम कमीशन के रूप में देने का झांसा देकर एटीएम धारकों से उनका एटीएम एवं पिन नंबर मांगते थे ।

किसी को शक न हो इसलिए कुछ समय बाद एटीएम वापस करते थे 

पूछताछ पर आरोपीगण ने बताया कि गिरोह का सरगना काफी शातिर किस्म का है , जो कि इनके पास से लिए गए एटीएम कार्ड को लगभग दो-तीन महीने उपयोग करने के बाद इनको वापस कर देता था , जिसे ये लोग पुनः एटीएम कार्ड धारक को वापस कर दिया करते थे ताकि किसी प्रकार का शक न हो ।

आरोपीगण को भेजा गया जेल 

आरोपीगण अजय सिंह कंवर एवम अनिल कुमार को मामले में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर माननीय न्यायालय में प्रस्तुत किया गया , मामले की गंभीरता को देखते हुए माननीय न्यायालय द्वारा आरोपीगण के विरुद्ध जेल वारंट जारी कर जेल भेजने का आदेश पारित किया गया है ।
मामले के मुख्य सरगना को पकड़ने हेतु टीम बिहार भेजा जा रहा है ।

गिरफ्तारशुदा आरोपीगण का नाम इस प्रकार है :

1 . अजय सिंह कंवर पिता महाराज सिंह कवर उम्र 27 साल निवासी पंखादफाई, थाना बांकीमोंगरा, जिला कोरबा (छ0ग0)
2 . अनिल कुमार केंवट पिता मनीराम केंवट उम्र 29 साल पता भैरोताल, वार्ड नंबर 57 थाना कुसमुण्डा, जिला कोरबा (छ0ग0

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

एसएचएम शिपकेयर ने ओएनजीसी के लिए भारत का पहला तेज रफ्तार...

मुंबई/स्वराज टुडे : भारतीय जहाजों के निर्माण, समुद्री और अपतटीय क्षेत्र में अग्रणी ताकत और जीवनरक्षक नौकाओं की मशहूर प्रदाता, एसएचएम शिपकेयर ने आधुनिक...

Related News

- Advertisement -