छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे: जिले में अवैध रेत उत्खनन और परिवहन कार्य जोरों पर चल रहा है। जिला प्रशासन के साथ खनिज विभाग भी चुपी साधे है। जिले में बरमपुर, डेंगूनाला, रिसदा बायपास, कनबेरी हसदेव नदी, भिलाईखुर्द व राताखार बाईपास से रेत का उत्खनन किया जा रहा है।

रेत माफियाओं का कहना हैै केेiकेई विभाग मिलीभगत से रेत का उत्खनन किया जा रहा है। अगर इन रेत माफियाओं के विषय में खबर दी जाती है या शिकायत की जाती है। तो वे धमकी चमकी के साथ गाली गलौज पर उतर आते हैं। ऐसी एक शिकायत रेत भंडारण करता जय कुमार सोनी द्वारा कोरबा कलेक्टर से की गई है। जय कुमार सोनी ने अपने पत्र में लिखा है कि राताखार के पास नदी से रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है। जिसे सोहेब अहमद द्वारा बकायदा जेसीबी मशीन लगाकर रेत निकाला रहा है। उनके द्वारा इस कार्य की फोटोग्राफी कर खनिज इंस्पेक्टर उत्तम कुमार खुटे को भेजा गया कि इस पर रोक लगाई जाए। उसके बाद ही सोहेब अहमद द्वारा उन्हें धमकी दी गई कि मैं तुम्हारी गलत शिकायत कर तुम्हारा भंडारण को बंद करा दूंगा गौरतलब है कि जिले में लगभग 6 से 7 लोगों को रेत भंडारण कार्य करने का लाइसेंस दिया गया है । लेकिन रेत माफिया रॉयल्टी ना देकर नदी नालों से अवैध उत्खनन करने में जुटे हुए हैं। जिससे रेट भंडारण कर्ता को लाखों का नुकसान उठाना पड़ रहा है। यही वजह है कि जयकुमार सोनी को रेत माफिया द्वारा धमकाया जा रहा है। अब देखने वाली बात होगी कि जिला प्रशासन इस शिकायत को कितनी गंभीरता से लेता है या फिर इंतजार कर रहा है कि कोई अप्रिय घटना जिले में घटे फिर कार्यवाही की जाए।