एनटीपीसी परीक्षा 2022 विभिन्न रेलवे ज़ोन और भारतीय रेल की उत्पादन इकाइयों में आयोजित की गई थी। 21 आरआरबी में से 17 ने पहले ही अपने अंतिम परिणाम घोषित कर दिए हैं, जबकि बाकी जल्द ही अपने नतीजे करेंगे।

जनवरी के तीसरे सप्ताह तक इन्हें नौकरी के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा

NTPC Exam: रेलवे ने अपनी भर्ती परीक्षाओं के नतीजे घोषित करने और नौकरी मुहैया कराने की समयसीमा पहली बार तय की है। इसके तहत ‘गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी’ (एनटीपीसी) की परीक्षा में चयनित 35,281 अभ्यर्थियों को मार्च 2023 नौकरी दी जाएगी।

यह कदम उन एक लाख अभ्यर्थियों के लिए राहत लेकर आया है जिन्होंने विभिन्न चरणों में परीक्षाएं दी हैं और परिणामों का प्रतीक्षा कर रहे हैं। चार साल के बाद 35,281 रिक्तियों को भरने के लिए रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) एनटीपीसी परीक्षा 2022 विभिन्न रेलवे ज़ोन और भारतीय रेल की उत्पादन इकाइयों में आयोजित की गई थी।

अधिकारियों ने कहा कि स्तर छह में 7,124 उम्मीदवारों के परिणाम सितंबर में घोषित किए गए थे, उनकी चिकित्सा जांच और दस्तावेज़ों के सत्यापन काम किया जा रहा है। 21 आरआरबी में से 17 ने पहले ही अपने अंतिम परिणाम घोषित कर दिए हैं, जबकि बाकी जल्द ही अपने नतीजे करेंगे।

रेलवे की समयसीमा के मुताबिक, स्तर 5 का परिणाम नवंबर के तीसरे हफ्ते तक आ जाएगा और दिसंबर के दूसरे हफ्ते तक उनके दस्तावेज़ों के सत्यापन और चिकित्सकीय जांच का काम पूरा हो जाएगा। जनवरी के तीसरे सप्ताह तक इन्हें नौकरी के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा।

स्तर 4 की नौकरी के लिए परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों के नतीजे जनवरी के दूसरे हफ्ते सप्ताह तक आ जाएंगे, जिसके बाद उनके दस्तावेज़ों के सत्यापन और चिकित्सा जांच का काम फरवरी के पहले सप्ताह तक पूरा हो जाएगा। फरवरी में ही चयनित लोगों को सूचीबद्ध किया जाएगा।

स्तर 3 की नौकरियों के लिए सूची बनाने का काम मार्च 2023 के पहले सप्ताह तक पूरा हो जाएगा, जबकि स्तर 2 की नौकरियों के लिए पूरी प्रक्रिया मार्च 2023 के चौथे सप्ताह तक पूरी हो जाएगी। इनमें स्टेशन मास्टर, माल गार्ड, कमर्शियल अपरेंटिस , टिकट क्लर्क, कनिष्ठ लेखा सहायक, वरिष्ठ क्लर्क एवं टाइपिस्ट और टाइमकीपर जैसी नौकरियां शामिल हैं।

आरआरबी एनटीपीसी भर्ती प्रक्रिया में कंप्यूटर आधारित परीक्षा, टाइपिंग कौशल परीक्षा, दस्तावेज़ सत्यापन और चिकित्सा जांच के चरण होते हैं। आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा की अधिसूचना 28 फरवरी 2019 को जारी की गई थी।