कोरबा पुलिस ने लौटाए 201 व्यक्तियों को उनके गुम मोबाइल, मोबाइल स्वामी बोले “विश्वास था, पुलिस ढूंढ लेगी मोबाइल”

- Advertisement -

*◼️गुम मोबाईल वापस मिलने पर खुश हुई कोरबा की जनता।

*◼️सायबर सेल ने 201 गुम / चोरी मामाइलों को 7 अलग-अलग राज्यों से मंगाये, रिकव्हर मोबाइलों की कुल कीमत करीब 21 लाख।

*◼️संचार मंत्रालय ने दी गुम मोबइल के ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराने की सुविधा, गुम मोबाइल पर नया सिम इंसर्ट करने पर मिलेगी लोगो को सूचना।

कोरबा/स्वराज टुडे: साइबर सेल कोरबा की गुम और चोरी हुए मोबाइलों को ट्रेस कर रिकव्हर करने की कार्यवाही नियमित जारी है। वर्ष 2021 से साइबर सेल की टीम ने अब तक लगभग 1200 से अधिक गुम और चोरी हुए मोबाइलों को खोजकर उनके वास्तविक स्वामी तक पहुंचाया गया है। इन रिकव्हर किये गये गुम मोबाइलों का वर्तमान बाजार मूल्य करीब 01 करोड़ रुपए से अधिक है।

गुम / चोरी मोबाइल रिकवर के क्रम में श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री सिद्धार्थ तिवारी के निर्देशन व सायबर सेल पर्यवेक्षण अधिकारी श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय श्री यू बी एस चौहान के मार्गदर्शन पर साइबर सेल प्रभारी सउनि. अजय सोनवानी व उनकी टीम द्वारा विगत 2 माह में 201 गुम / चोरी हुए मोबाइलों को रिकवर किया गया है जिसका वर्तमान बाजार मूल्य करीब 21 लाख रुपए है जिसे सायबर सेल द्वारा छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों के अलावा सीमावर्ती मध्य प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार से कोरियर के माध्यम से मंगवाये गये हैं। चोरी/गुम हुए मोबाइल के उपयोग करने वालों को साइबर सेल द्वारा कानूनी कार्यवाही की समझाइस देकर रिकवर किए गए मोबाइलों में कई महंगे सेट वीवो, रेडमी, सैमसंग, वन प्लस, रियलमी, के महंगे सेट भी है।

आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय कोरबा में श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री सिद्धार्थ तिवारी के निर्देशन पर श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय श्री यू.बी.एस चौहान व नेहा वर्मा एवं सायबर सेल पर्यवेक्षण अधिकारी नगर पुलिस अधीक्षक दर्री श्री रविन्द्र मीना द्वारा रिकवर किए गए 201 मोबाइलों को उनके वास्तविक स्वामियों को लौटाया गया। मोबाइल प्राप्त करते समय मोबाइल स्वामी काफी खुश नजर आए। उन्होंने कोरबा पुलिस को धन्यवाद दिया और बताये कि उन्हें विश्वास था कि उनका गुम मोबाइल पुलिस जरूर ढूंढ निकालेगी। गुम / चोरी मोबाइल रिकव्हर के कार्य में सायबर सेल प्रभारी सउनि. अजय सोनवानी, प्रधान आरक्षक गुनाराम सिंहा, चंद्रशेखर पांडे, राजेश कंवर, आरक्षक प्रशांत सिंह, सुशील यादव, आलोक टोप्पो, विकेश्वर प्रताप सिंह, रवि चौबे, रितेश शर्मा, डेमन ओगरे, महिला आरक्षक रेनू टोप्पो की सराहनीय भूमिका रही है।

जिले के साइबर सेल तथा थाना, चौकियों में लगातार गुम और चोरी मोबाइलों के संबंध में आवेदन प्राप्त हो रहा है, इसलिए यह बताना आवश्यक है कि भारत सरकार, संचार मंत्रालय द्वारा गुमध्चोरी मोबाइल के संबंध में CEIR पोर्टल “Central Equipment Identity Register” की सुविधा उपलब्ध करायी गई है जिस पर गुम/चोरी की सूचना ऑनलाइन दिया जा सकता है। यह पोर्टल भारत सरकार द्वारा प्रमाणित है, जिसे वेबसाइट www-ceir-gov-in के माध्यम से उपयोग किया जाता है। पोर्टल पर गुम/चोरी मोबाइल की सूचना देकर मोबाइल को ब्लाक और फिर अनब्लाक किया जा सकता है, जिससे मोबाइल के डाटा सुरक्षित रहता है। साथ ही जब कभी गुम/चोरी मोबाइल पर नया सिम इंसर्ट होता है तो सूचनाकर्ता के दूसरे मोबाइल नंबर पर सूचना चली जाती है। दूसरी ओर इस ऐप में दर्ज गुम/चोरी मोबाइल की शिकायतों पर पुलिस कार्यवाही करती है।

बता दें कि साइबर सेल द्वारा गुम/चोरी के आवेदन अब नहीं लिये जा रहे हैं अपितु थाना/चौकी तथा जनता द्वारा स्वयं इस पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन फार्म भरकर तथा दस्तावेज अपलोड कर अपने गुम / चोरी हुए मोबाईल के संबंध मे रिपोर्ट दर्ज भी कर सकते है।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

एसएचएम शिपकेयर ने ओएनजीसी के लिए भारत का पहला तेज रफ्तार...

मुंबई/स्वराज टुडे : भारतीय जहाजों के निर्माण, समुद्री और अपतटीय क्षेत्र में अग्रणी ताकत और जीवनरक्षक नौकाओं की मशहूर प्रदाता, एसएचएम शिपकेयर ने आधुनिक...

Related News

- Advertisement -