स्वराज टुडे हेल्थ टिप्स

नस चढ़ना एक बहुत आम समस्या है। कई लोगों को बैठे हुए, लेटे हुए या खड़े-खड़े भी नस चढ़ जाती है। अधिकतर नस हाथ या पैर की चढ़ती है। जब ये नस चढ़ती है तो बहुत दर्द होता है। कई लोग तो तड़पने लगते हैं। हालांकि अधिकतर ये कुछ ही देर होती है, लेकिन कुछ मामलों में ज्यादा देर भी रहती है। तो आखिर ये नस क्यों चढ़ती है? इसके क्या उपाय हैं? चलिए जाने।

इस कारण चढ़ती है नस

नस चढ़ने का सबसे प्रमुख कारण शारीरिक कमजोरी होती है। हालांकि इसके और अन्य कारण भी होते हैं। जैसे शरीर में पानी की कमी, खून में पोटेशियम और कैल्शियम की कमी, शरीर में मैग्नीशियम और मिनरल्स की कमी, ज्यादा शराब पीना, किसी बीमारी के चलते अधिक कमजोर होना, ज्यादा टेंशन लेना, गलत पोजीशन में बैठना, गलत खान-पान और नींद की कमी इत्यादि।

नस चढ़े तो करें ये उपाय

1. स्ट्रेच: नस चढ़ने पर शरीर के उस हिस्से की स्ट्रेचिंग करना इस समस्या से तुरंत राहत दिला सकता है। आपकी मांसपेशी जिस ओर खींचती है, उसके अपोजिट डायरेक्शन में स्ट्रेचिंग करने से लाभ मिलता है। हालांकि इस बात का ध्यान रहे कि आप अधिक ताकत लगाकर भी स्ट्रेच न करें। यदि इससे राहत न मिले तो इसे ज्यादा भी न करें।

2. नमक: जब नस चढ़ जाए तो नमक चाटना शुरू कर दें। नमक में पोटैशियम होता है। शरीर में पोटैशियम की कमी होने से भी नस चढ़ जाती है। इसलिए थोड़ा सा नमक चाटने से फायदा होने लगता है।

3. केला: केले का सेवन भी नस चढ़ने पर रामबाण इलाज साबित होता है। दरअसल केले में भी प्रचुर मात्रा में पोटेशियम होता है। इसलिए यदि नस चढ़ने का कारण शरीर में पोटेशियम की कमी है तो केला खाकर नस उतारी जा सकती है।

4. बर्फ: नस चढ़ने पर बर्फ की सिंकाई भी की जा सकती है। जहां नस चढ़ी हो वहां कपड़े में बर्फ डालकर उससे सिंकाई करें। ऐसा करने से तुरंत आराम मिलता है।

5. मसाज: गर्दन, हाथ और पैर की नस चढ़ जाए तो उस पर एसेंशियल ऑयल से मसाज करना लाभकारी होता है। इससे खून का दौरा बढ़ता है। ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है। मरीज को जल्दी राहत मिलती है।

6. पर्याप्त नींद: आपको ये उपाय जान थोड़ी हैरानी हो रही होगी, लेकिन आप पर्याप्त नींद लेकर भी नस चढ़ने की समस्या से छुटकारा पा रहसकते हैं। शरीर में जब भी कुछ नुकसान होता है तो वह खुद उसकी मरम्मत कर लेता है। हालांकि इसके लिए आपको सामान्य से कुछ घंटे अतिरिक्त सोना और आराम करना होगा। वहीं हेल्थी भोजन भी करते रहना होगा।