नई दिल्ली/स्वराज टुडे: प्रेस कॉन्फ़्रेंस में शुक्रवार को राहुल गांधी से पूछा गया कि अगर मोदी सरकार के कोरोना से जुड़े आंकड़े झूठ हैं तो क्या कांग्रेस की राज्य सरकारें भी झूठ बोल रही हैं?

इस सवाल के जवाब में राहुल ने कहा, ”मैंने अपने मुख्यमंत्रियों से निजी तौर पर बात की है और कहा कि झूठ बोलने से नुक़सान होगा. मैंने अपने मुख्यमंत्रियों से कहा कि सच्चाई सामने रखिए और उसी से मदद मिलेगी. बिना सच्चाई जाने हम कोरोना से लड़ाई नहीं लड़ सकते हैं. मैं गारंटी कह रहा हूँ कि सरकार के आँकड़े झूठ हैं. 100 फ़ीसदी झूठ हैं.”

राहुल ने कहा, ”इस सरकार को जो सच्चाई बता रहा है, चाहे विपक्ष के लोगो हों या ब्यूरोक्रेट्स हों, उनकी बात सरकार सुने. अब वक़्त बर्बाद करने का वक़्त नहीं है. करोड़ों लोगों को आपने कुंभ मेंला में जाने दिया.”
राहुल ने कहा, ”प्रधानमंत्री को कोरोना का तेवर ही समझ में नहीं आया. अगर आता तो ये कोरोना के बढ़ने की जगहों को बंद कर सकते थे. आप बंगाल में भाषण दे रहे हैं और लाखों लोग बिना मास्क के खड़े थे. वैक्सीन लगानी पड़ेगी. अगर ममता जी और प्रधानमंत्री एक पेज पर होंगे तो कोरोना की जगह बंद होगी.”