‘गाजा में चल रही जंग को रोक सकता है भारत’, जानिए किस बड़े मुस्लिम देश ने कही ये बात?

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: इजराइल और हमास के बीच खौफनाक जंग जारी है। 7 अक्टूबर को हमास के इजराइल पर खतरनाक अटैक के बाद इजराइल ने गाजा पर पलटवार करते हुए जोरदार प्रहार किया है। पिछले 25 दिनों से यह जंग जारी है।

इसी बीच इजराइल ने पहले एयर स्ट्राइक, फिर जमीनी हमले भी शुरू कर दिए हैं। इन सबके बीच ईरान की ओर से बड़ा बयान आया है। ईरान ने कहा है कि भारत में इतना दम है कि वह गाजा में चल रही जंग को रुकवा सकता है।’

अंतरराष्ट्रीय समुदाय की ओर से सीजफायर की अपील के बावजूद गाजा में जंग जारी है। इसी बीच शिया बहुल देश ईरान ने एक बड़ा बयान दिया है। भारत में ईरान के राजदूत इराज इलाही ने कहा है कि गाजा में जारी हिंसात्मक कार्रवाई को भारत रोक सकता है। बता दें कि परोक्ष रूप से ईरान पर हमास और हिजबुल्ला संगठन को मदद करने का आरोप लगता रहा है। इसी बीच हमास पर हमला करने पर ईरान ने इजराइल को हाल के समय में कई चेतावनियां भी दी हैं।

‘भारत ग्लोबल साउथ का लीडर, जंग का हल निकालने में सक्षम’

इसी बीच मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ईरान के राजदूत इराज इलाही ने मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ‘ग्लोबल साउथ के लीडर के तौर पर भारत गाजा में चल रहे संघर्ष को हल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। हमें उम्मीद है कि भारत गाजा की वर्तमान स्थिति को नजरअंदाज नहीं करेगा। इजराइल और हमास के बीच जारी मौजूदा संघर्ष को खत्म कराने में भारत महत्वपूर्ण योगदान देने की क्षमता रखता है।’

‘वैश्विक मंचों पर दिखाई देती है भारत की ताकत’

भारत में ईरान के राजदूत इराज इलाही ने आगे कहा, ‘भारत हमेशा से वैश्विक मंचों पर नैतिकता और मानवता के साथ खड़ा रहा है। महात्मा गांधी के नैतिक विचारों और फिलिस्तीन को लेकर दिया गया उनका बयान कौन भूल सकता है। इन सिद्धातों ने ही भारत को ग्लोबल साउथ की एक प्रमुख आवाज के रूप में उभरने का मार्ग दिया है। इससे कोई इनकार नहीं कर सकता है कि भारत के पास नैतिक साहस को कायम रखने और ह्यूमन स्पिरिट को बरकरार रखने का एक लंबा इतिहास है।’ जारी जंग को लेकर पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने कहा कि ‘मेरा पूर्ण विश्वास है कि गाजा में चल रहे नरसंहार पर भारत आंखें नहीं मूंदेगा। भारत के पास इस संघर्ष को खत्म करने में अहम भूमिका निभाने की क्षमता है।’

इजराइल पर हमास के हमले में ईरान का हाथ नहीं: इलाही

ईरानी राजदूत ने कहा कि इजराइल पर आतंकी संगठन हमास ने जो 7 अक्टूबर को हमला किया था, उसमें ईरान का कोई हाथ नहीं है। इलाही ने आगे कहा कि ‘हमारा विश्वास है कि सभी देशों को फिलिस्तीनियों के खिलाफ जारी संघर्ष को समाप्त करने की ओर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।’