अक्सर आपने कई लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि उनसे सुबह जल्दी सोकर नहीं उठा जाता है। अगर आप भी ऐसे ही कुछ लोगों में शामिल हैं तो आज से ही अपनी इस गलत आदत में सुधार कर लें।

जी हां, जिस तरह कम नींद लेने से व्यक्ति को सेहत से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं, उसी तरह जरूरत से ज्यादा (7-8 घंटे से ज्यादा) नींद लेने पर भी आपकी सेहत खराब हो सकती है। आइए जानते हैं आखिर जरूरत से ज्यादा सोने से व्यक्ति को होती हैं क्या-क्या परेशानियां।

डायबिटीज-

ज्यादा देर सोने से व्यक्ति की फिजिकल एक्टिविटी ना के बराबर हो जाती है और उसका शुगर लेवल बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है। जर्नल पीएलओएस में छपी एक स्टडी के मुताबिक 9 घंटे से ज़्यादा नींद लेने से व्यक्ति के शरीर में शुगर का खतरा बढ़ जाता है।

सिर दर्द-

कई बार ज्यादा सोने के बाद उठने से सिर में दर्द और भारीपन महसूस होता है। ऐसे में दर्द से आराम के लिए कॉफी का सेवन मददगार हो सकता है।

दिल के रोग-

अमेरिकन एकेडमी ऑफ स्लीप मेडिसिन में छपी स्टडी की मानें तो अधिक नींद लेने से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इस स्टडी के मुताबिक जो महिलाएं 9 से 11 घंटे की नींद लेती हैं उनमें दिल के रोग होने की संभावना 38 प्रतिशत तक बढ़ जाती है।

डिप्रेशन की संभावना-

आपको जानकर हैरानी होगी कि जरूरत से ज्यादा सोना भी डिप्रेशन का कारण बन सकता है। हाल ही में पीएलओएस में छपी एक स्टडी के मुताबिक ज्यादा सोना डिप्रेशन का कारण बन सकता है। इतना ही नहीं अधिक देर सोने से व्यक्ति के भीतर सुस्ती बनी रहती है और उसका मन रोजाना के काम में भी नहीं लगता है।

पीठ दर्द-

कुर्सी पर बैठकर घंटों काम करने वाले लोग अगर अधिक देर तक सोते हैं तो उन्हें पीठ दर्द , गर्दन, कंधों में दर्द की समस्या हो सकती है।

मोटापा-

ज्यादा देर सोने की वजह से फिजिकल एक्टिविटी न के बराबर हो जाती है। व्यक्ति अधिकतर समय अपना खाकर, बैठकर या फिर सोकर गुजार देता है। जो आगे चलकर वजन और मोटापा बढ़ने का कारण बनता है। इतना ही नहीं इसकी वजह से पाचन क्रिया धीमी होने लगती है और व्यक्ति को कब्ज की समस्या भी परेशान करने लगती है।