तनाव, विटामिन ए की कमी, बॉडी में आयोडीन की कमी होना, हार्मोन असंतुलन, बॉडी में टॉक्सिन्स होने के कारण थायराइड तेजी से बढ़ता है।

थायराइड की परेशानी बॉडी में आयोडीन की कमी के कारण पनपती है। जब थायराइट ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में हार्मोन का निर्माण नहीं कर पाती तो बॉडी में कई तरह की परेशानियां पैदा होने लगती है। थायराइड खराब लाइफस्टाइल और खान-पान की खराबी से पनपने वाली बीमारी है जिसकी सबसे ज्यादा शिकार महिलाएं है।

अमेरिकन थायराइड एसोसिएशन के मुताबिक इस बीमारी से पीड़ित इनसान की बॉडी में उसके लक्षण जल्द ही दिखने लगते हैं। बॉडी में थकान रहना, बाल झड़ना, महिलाओं को समय पर पीरियड न आना और मिजास में कड़वापन रहना इस बीमारी के प्रमुख लक्षण हैं। इस बीमारी के लक्षणों की तुरंत जांच कर ली जाएं तो उसका तुरंत उपचार करके उसे कंट्रोल किया जा सकता है। आइए जानते हैं कि थायराइड क्यों बढ़ता है और उसे कैसे कंट्रोल किया जाए।

थायराइड क्या है

थायराइड गर्दन के निचले हिस्से के बीच में तितली के आकार की एक छोटी सी ग्रंथि होती है जो शरीर के मेटाबॉल्जिम को कंट्रोल करती है। हम जो भी खाते हैं, यह ग्रंथि उसे उर्जा में परिवर्तित करती है। इसके साथ ही यह हृदय, मांसपेशियों, हड्डियों व कोलेस्ट्रोल को भी प्रभावित करती है।

थायराइड बढ़ने के कारण

थायराइड एक ऐसी परेशानी है जिसके कई कारण हैं जैसे तनाव, विटामिन ए की कमी, बॉडी में आयोडीन की कमी होना, हार्मोन असंतुलन, बॉडी में टॉक्सिन्स होना और नशीले पदार्थों का सेवन करने से भी थायराइड तेजी से बढ़ता है। आइए जानते हैं कि घर में कैसे थायराइड को कंट्रोल करें।

नॉन वेज का करें सेवन

डाइट में मांस, मछली और अंडे का सेवन करने से थॉयराइड कंट्रोल रहता है। अगर आपका थायराइड बढ़ रहा है तो तुरंत डाइट पर ध्यान दें आपका थायराइड ठीक रहेगा।