नौकरी लगाने के नाम पर 7 लाख की ठगी, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

- Advertisement -

धमतरी/स्वराज टुडे: सरकारी विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर 7 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। आरोपी ने कई लोगों को यही कहकर झांसे में लिया उनसे पैसे लिए। एक शख्स को तो वह फर्जी जॉइनिंग लेटर देकर दफ्तर भी ले गया था। मगर वहां से बहाना बनाकर वापस घर ले गया। जिसके बाद पूरे मामले की शिकायत हुई और अब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मामला सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

इस केस में डिवज कुमार साहू नाम के युवक ने 5 महीने पहले थाने में शिकायत की थी। शिकायत में उसने बताया कि कुछ समय पहले उसकी मुलाकात चिरंजीव सिन्हा से हुई थी। तब चिरंजीव ने कहा था कि उसकी सरकारी विभागों में अच्छी पहचान है। वह डिवज की नौकरी जल्द लगवा देगा। इसके लिए उसने डिवज से एक लाख रुपए लिए और कहा कि 2 महीने के भीतर मैं आपकी नौकरी लगवा दूंगा। आपको जल संसाधन विभाग में काम मिलेगा।

कुछ समय के बाद डिवज ने आरोपी से संपर्क किया, तब चिंरजीव ने उसे जॉइनिंग लेटर दे दिया। इसके बाद उसे जिले के जल संसाधन विभाग में लेकर गया। उस दौरान पीड़ित युवक ने दफ्तर में ही बैठकर कुछ देर इंतजार किया। इसके कुछ देर बाद चिरंजीव आया और कहने लगा कि आज कोई अधिकारी नहीं है। कुछ दिन में तुम्हारी जॉइनिंग करवा दूंगा। मगर काफी समय बीतने के बाद भी उसकी नौकरी नहीं लगी। इस पर डिवज ने उससे पैसे मांगे, लेकिन आरोपी ने पैसे देने से इनकार कर दिया । बाद में पता चला आरोपी ने ना सिर्फ डिवज से, बल्कि और कई लोगों से इसी तरह से पैसे लिए हैं। कुल मिलाकर अलग-्अलग लोगों से 7 लाख की ठगी गई है।

इसी रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था। मगर आरोपी फरार चल रहा था। इस बीच पुलिस को पता चला कि आरोपी कोतवाली इलाके के अपने घर में आया हुआ है। जिसके बाद पुलिस ने दबिश दी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

नक्सलवाद पर सर्जिकल स्ट्राइक! देश का सबसे बड़ा सफल ऑपरेशन, गृह...

सुरक्षा बलों के जवानों ने 29 नक्सलियों को मार गिराया। इनमें से कुछ हार्डकोर नक्सली भी शामिल हैं। नक्सल मोर्चे पर पहली बार ऐसा...

Related News

- Advertisement -