पारस पत्थर के लिए बुजुर्ग बैगा की हत्या, एक महिला समेत सभी 10 आरोपी गिरफ्तार, जानिए सनसनीखेज वारदात की पूरी कहानी

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
जांजगीर-चांपा/स्वराज टुडे: छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में पारस पत्थर के लिए बुजुर्ग की हत्या कर दी गई। आरोपियों को लगता था कि बुजुर्ग के पास ऐसा पत्थर है, जो किसी भी लोहे को छू दे तो वह सोना बन जाएगा। इसलिए उसी पत्थर को पाने वे उसे पूजा पाठ कराने के बहाने अपने साथ जंगल ले गए थे। फिर जंगल में ही उसे-पीट-पीट कर मार दिया। इसके बाद उसके शव को जंगल में ही दफना दिया था। इस मामले में पुलिस ने अब एक महिला समेत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

10 जुलाई को पत्नी ने दर्ज कराई थी लापता बुजुर्ग की गुमशुदगी की रिपोर्ट

मामला जांजगीर थाना क्षेत्र का है। मुनुंद गांव निवासी बाबूलाल यादव(70) गांव में झाड़ फूंक का काम करता था। वो यहां अपने गांव में पत्नी रामवती यादव के साथ रहता था। बताया गया था कि वह 8 जुलाई से घर से निकला था। उसकी पत्नी ने बताया था कि कुछ लोग घर आए थे और पूजा पाठ के बहाने के घर से ले गए थे। मगर 2 दिन बाद तक वह लौटे ही नहीं थे। जिसके बाद उसकी पत्नी ने मामले की शिकायत 10 जुलाई को पुलिस से कर दी थी।

गिरफ्तार होने के बाद आरोपियों ने किया बड़ा खुलासा

मामले में शिकायत होने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की। पहले इस बात का पता लगाया गया कि 8 तारीख को बाबूलाल के घर कौन आया था। जांच में पुलिस को कुछ नाम पता चले थे। इसी आधार पर पुलिस ने टेकचंद जायसवाल, राजेश हरवंश को हिरासत में लिया था। पूछताछ में ही उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया। मंगलवार को पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया। बुजुर्ग ने कहा-नहीं है कोई पत्थर उन्होंंने बताया कि हमे पता चला था कि बाबूलाल के पास पारस पत्थर( एक ऐसा पत्थर जो किसी लोहे को छू दे तो वह सोना बन जाए) है। इसलिए हमने रामनाथ श्रीवास, मनबोधन यादव, छवी प्रकाश, यासिन खान, खिलेश्वर पटेल, तेजराम पटेल, अंजू पटेल, सतीश केसकर के साथ मिलकर योजना बनाई थी कि बाबूलाल से वह पत्थर ले लेंगे।

पूजा पाठ के बहाने लेकर गए और जंगल में हत्या कर दफना दी लाश

प्लान के तहत सभी 10 आरोपी बुजुर्ग बैगा बाबूलाल के घर गए थे। वहां से उसे पूजा पाठ करवाने का बहाना बनाकर वे अपने साथ कटरा के जंगल ले गए। यहां उन्होंने पारस पत्थर के सम्बंध में उससे काफी पूछताछ की कि वह पत्थर कहां है। मगर उसने पत्थर होने से इनकार दिया था। घर जाकर तलाश किया, कई जगह गड्ढे कर दिए ।आरोपियों ने बताया कि उसने जब काफी बार इनकार किया तो हम उसी रात उसके घर गए। इसके बाद हमने उसके घर में भी पत्थर काफी खोजा। लेकिन पत्थर नहीं मिला। यहां तक कि घर में गई जगह गड्‌ढे भी कर दिए। फिर भी हमे पत्थर नहीं मिला। इसके बाद हम घर में रखे जेवर और 23 हजार कैश लेकर वहां से फिर सें जंगल की ओर आ गए थे।


बुजुर्ग बैगा के घर भी आरोपियों ने की खुदाई

जंगल में लौटने के बाद आरोपियों ने फिर से पूछताछ की । लेकिन बाबू लाल उन्हें इनकार करता रहा। इसी बात पर ये सभी लोग नाराज हो गए और सभी ने मिलकर लात-घूंसों से उसे इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई थी। ये सब कुछ 8 जुलाई की रात को हुआ था। मारने के बाद सभी ने शव को जंगल में ही छिपा दिया।

अगले दिन आकर जमीन में गाड़ा शव

अगले दिन फिर से सभी जंगल गए और गड्‌ढा करके शव को दफना दिया । अब पुलिस ने इनकी ही निशानदेही पर शव को निकाला है। मंगलवार को पूरे मामले का खुलासा किया किया है। पुलिस ने आरोपियों से 9 हजार कैश और जेवर बरामद कर लिए हैं। इसके अलावा एक पिस्टल भी जब्त किया गया है।


आरोपियों से जब्त पिस्टल

आरोपियों के कब्जे से चोरी किए गए सामान सहित हत्या में प्रयुक्त लाठी-डंडा तथा फावड़ा, कुदारी, सब्बल, वारदात में उपयोग 3 मोटर सायकल, बाबूलाल का थैला, मोबाइल एवं अन्य सामान जिसको आरोपियों ने लेवई के जंगल में जला दिया था, उनके अधजले अवशेष लेवई जंगल से बरामद किया गया। प्रकरण में 395, 302, 201, 120बी,342,34 भादवि की धारा जोड़ी गई है।

पारस पत्थर के लालच में हत्या करने वाले आरोपी

आरोपियों में टेकचंद जायसवाल उम्र 49 वर्ष निवासी लोहराकोट थाना बाराद्वार, रामनाथ श्रीवास उम्र 52 वर्ष निवासी महमदपुर थाना अकलतरा, राजेश हरवंश उम्र 40 वर्ष निवासी बिरगहनी थाना बलौदा मनबोधन यादव निवासी बिरगहनी थाना बलौदा, छवी प्रकाश जायसवाल उम्र 21 वर्ष निवासी लोहराकोट थाना बाराद्वार, यासिन खान उम्र 21 वर्ष निवासी रिसदी जिला कोरबा, खिलेश्वर राम पटेल उम्र 42 निवासी सिर्री थाना पामगढ हाल हरदी बाजार जिला कोरबा, तेजराम पटेल उम्र 26 वर्ष निवासी बोइदा थाना पाली जिला कोरबा, अंजू कुमार पटेल उम्र 28 वर्ष निवासी कापूबहरा जिला कोरबा एवं शांति बाई यादव उम्र 22 वर्ष निवासी बिरगहनी थाना बलौदा शामिल हैं।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
502FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

अधिवक्ता संघ चुनाव के मतपत्रों की गिनती फिर से होः अधिवक्ता...

जिला अधिवक्ता संघ चुनाव में गड़बड़ी की आशंका को लेकर अधिवक्ताओं के एक वर्ग ने चुनाव अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर पुनः मतगणना कराए...

Related News

- Advertisement -