छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे: छत्तीसगढ़ के पुलिस विभाग में जिस तरह 112 की मदद आम जनों तक पहोंच रही वो “वरदान” साबित हो रही किसी भी वक्त 112 की टीम मदद के लिए कुछ मिनटों में जरूरतमंद व्यक्ति तक पहुंच कर लोगों की सेवा कर रही साथ ही आम जनों से काफी मदद मिल रही, इसी विषय पर चर्चा करने के लिए स्नेक रेस्क्यू टीम प्रमुख वन विभाग सदस्य जितेन्द्र सारथी कोरबा पुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिंह सर से मुलाकात कर 112 से जुड़ी विशेष ध्यान दिलाया साथ ही और बेहतर अच्छे परिणाम मिले इस पर ध्यान केंद्रित करवाया।

जितेन्द्र सारथी ने पुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिंह सर को बताया कि उनकी टीम को लगातार 112 की रेस्क्यू ऑपरेशन में मदद मिलती हैं। शहर से काफी दूर और ग्रामीण क्षेत्रों से जब रेस्क्यू काल 112 के पास आता हैं तो वो अविलंब लोगों की मदद के लिए पहुँचकर सामने वाले को राहत दिलाने और उनकी परेशानी को दूर करने में कामयाब होते हैं जिसके कारण एक बड़ी दुर्घटना टल जाती हैं ।आगे भी इसी तरह रेस्क्यू टीम को 112 की मदद मिलती रहें उसके लिए विशेष निवेदन किया गया।

112 टिम के साथ प्रशिक्षण की विशेष आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित कराया

ज़िले के शहरी एवम ग्रामीण क्षेत्रों से 112 को सांपो से जुड़ी लगातार रेस्क्यू इवेंट मिलते हैं उसके साथ ही बीहड़ और ग्रामीण क्षेत्रों से सर्प दंश की जानकारी भी 112 को लगातार मिलते रहती हैं जिसके लिए 112 के चालक और आरक्षक को इस परस्तिथि में सर्व प्रथम क्या करना चाहिए, मरीज को प्राथमिक उपचार क्या करना चाहिए। इन सब बातों पर भी ध्यान केंद्रित कराया गया ताकि सर्प दंश पीड़ित व्यक्ति को थोड़ा और समय मिल सके और उसकी जान बच सके। इन सभी बातों को लेकर जितेन्द्र सारथी ने कोरबा पुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिंह सर से चर्चा किया जिस पर जल्द ही एक विशेष कार्यक्रम तैयार करने की बात कही गई ।  साथ ही कहा गया यह बहुत अच्छी सोच हैं जो 112 के साथ आम जनों के लिए वरदान साबित होगी।