पुलिस विभाग में फर्जी नियुक्ति कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, आरोपियों के नाम जानकर पुलिस रह गयी हैरान

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
बिलासपुर/स्वराज टुडे: पुलिस विभाग में फर्जी नियुक्ति कराने वाले एक बड़े गिरोह का उस वक्त भंडाफोड़ हो गया जब एक आरोपी फर्जी नियुक्ति पत्र लेकर ज्वाइन करने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा।

फर्जी नियुक्ति पत्र के साथ जॉइनिंग लेटर बरामद

एसपी आफिस के स्थापना शाखा के प्रभारी श्री वैष्णव की लिखित रिपोर्ट पर फर्जी नियुक्ति पत्र धारक पियूष प्रजापति के विरुद्ध धोखाधड़ी का अपराध तत्काल कायम किया गया। कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए थाना प्रभारी सिविल लाइन व उनकी टीम ने विवेचना के तहत आरोपी पियूष प्रजापति के memorandum कथन के आधार पर तोरवा क्षेत्र से एक निगम कर्मी भोजराज नायडू , पार्षद रेणुका नागपुरे , पुलिस लाइन में पदस्थ एक आरक्षक पंकज शुक्ला का नाम सामने आते ही पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई ।

फर्जीवाड़े के आरोपियों पर कार्रवाई शुरू

इस फर्जीवाड़े में आपराधिक षड्यंत्र में शामिल होने पर विधिवत गिरफ़्तारी की कार्यवाही की जा रही है, जिसमे मोबाइल के साथ 8 लाख रु नगद बरामद किया गया है जो लेनदेन करके फर्जी दस्तावेज तैयार करने में उपयोग भी किया गया था।

आरोपी के नाम

1 पियूष प्रजापति पिता भोलाराम 28 साल करगीरोड, कोटा

2 भोजराज नायडू पिता लक्ष्मण नायडू 58 साल यदुनंदन नगर तिफरा

3 . रेणुका प्रसाद नागपुरे पिता हरीलाल उम्र 49 साल निवासी हेमूनगर तोरवा

4 पंकज शुक्ला पिता भोलाराम शुक्ला 42 साल पुलिस लाइन बिलासपुर

इस कार्रवाई में इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका

इस सनसनीखेज फर्जीवाड़े का खुलासा करने में थाना प्रभारी सिविल लाइन के साथ उनि धर्मेंद्र वैष्णव,आर सरफराज खान, देवेंद्र दुबे, विकास यादव, मनोज बघेल, राजेश नारंग, बालाजी राव, निलेश राठौर. और महेंद्र पटेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
501FansLike
50FollowersFollow
780SubscribersSubscribe

कांकेर में पुलिस-नक्सली के बीच जबरदस्त मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, एक...

छत्तीसगढ़ रायपुर/स्वराज टुडे: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) से मिली बड़ी खबर के अनुसार, यहां के कांकेर (Kanker) में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच जोरदार मुठभेड़ हुई। वहीं...

Related News

- Advertisement -