बदायूँ में हिंदू बच्चों का गला रेते जाने से दुःखी हिना ने छोड़ा इस्लाम, मृत बच्चों की माँ के नाम पर रखा अपना नाम संगीता

- Advertisement -

उत्तरप्रदेश
सीतापुर/स्वराज टुडे: सीतापुर की 20 वर्षीय मुस्लिम युवती हिना अली पर बदायूँ में साजिद-जावेद द्वारा दोनों हिंदू बच्चों आयुष और आहान की हत्या का ऐसा प्रभाव पड़ा, कि उन्होंने इस्लाम त्यागने का फैसला किया और सनातन परंपरा को अपनाते हुए अपने हिंदू प्रेमी महेश से विवाह कर लिया। हिना ने अपना नाम संगीता रखा है। संगीता ही आयुष और आहान की माँ का नाम है। हिना ने गुरुवार 28 मार्च 2024 को घर वापसी की।

संगीता बनने वाली हिना अली सीतापुर के खैराबाद थाना इलाके की रहने वाली हैं। उनके अब्बू का नाम ताहिर अली है, जो सीतापुर में सैलून चलाते हैं। लगभग ढाई साल से हिना का महेश नाम के एक युवक से बातचीत शुरू हुई थी जो बाद में प्यार में बदल गई। महेश भी खैराबाद का रहने वाला है। हिना से संगीता बनने के बाद दोनों ने वैदिक विधि-विधान से एक-दूसरे का हाथ थाम सात-जन्मों के साथ का वादा किया। इस विवाह समारोह के दौरान वेदमन्त्रों की गूंज के साथ जय श्री राम के नारे भी लगे।

हिना का कहना है कि उनके अब्बा ताहिर ने महेश से उनकी मेलजोल का खूब विरोध किया। वो हिंदुओं को काफिर बोलते हैं। महेश के परिजनों ने संगीता को पसंद कर लिया और उनके रिश्ते को भी हरी झंडी दिखा दी, लेकिन अब्बा ताहिर ने इसका विरोध किया और उनपर तमाम पाबंदियाँ लगा दी। इसके बाद हिना के कहने पर महेश ने हिंदू शेर सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास हिंदू से संपर्क किया और फिर हिना ने इस्लाम त्यागने का फैसला किया संगीता बनकर सनातन परंपरा में वापसी की।

गुरुवार को हिना और महेश की शादी सीतापुर शहर के कांशीराम कॉलोनी स्थित माता काली मंदिर में वैदिक विधि-विधान से संपन्न हो गई। मौके पर मौजूद महेश के परिजनों के अलावा हिंदू संगठनों ने भी हिना और महेश को उपहार और सुखी दांपत्य का आशीर्वाद दिया। नवदम्पति ने पुलिस से सुरक्षा की माँग भी की है।

इस विवाह में सहयोग करने वाले हिंदू शेर सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास हिन्दू ने बताया कि परिवार वालों के दबाव और मजहब की पाबंदियों के चलते हिना अली काफी समय तक चुप रहीं। उनके अब्बा ताहिर अपनी बेटी के लिए कोई मुस्लिम लड़का भी तलाशना शुरू कर चुके थे। हालाँकि इसका हिना विरोध करती रही।

वहीं, हिना की मानें, तो 19 फरवरी 2024 में बदायूँ जिले में सैलून चलाने वालों द्वारा दो नाबालिग हिंदू बच्चों के हत्या की खबर सामने आई। वायरल होते हुए ये खबर हिना तक पहुँची। खबर ने हिना को बुरी तरीके से झकझोर दिया। उन्होंने हिन्दू धर्म मे घर वापसी करने का फैसला कर लिया।  एक वीडियो के माध्यम से हिना ने यह भी बताया कि जिन लोगों ने बच्चों की हत्या की वो भी उनके अब्बा की ही तरह सैलून चलाते हैं। हिना के पति महेश मौर्य बताते हैं कि बदायूँ हत्याकांड के बाद हिना ने तमाम बंदिशों के बावजूद जैसे-तैसे उनसे सम्पर्क किया। वो जल्द से जल्द खुद से विवाह करने के लिए कहने लगीं। अब दोनों विवाह करके काफी खुश हैं और हमेशा के लिए एक हो गए हैं।

यह भी पढ़ें: अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझाई, बेटा ही निकला पिता का हत्यारा

यह भी पढ़ें: देखती रह गई मौत, जिंदगी बचा ले गया फरिश्ता, कैमरे में कैद हुआ अद्भुत नजारा

यह भी पढ़ें: मार्च में मई जैसी गर्मी, अनेक राज्यों में तापमान 40 डिग्री के पार, हिटवेव की चेतावनी जारी

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

राशिफल 17 अप्रैल 2024: जानिए कैसा रहेगा आपका आज का दिन

आज का राशिफल: बुधवार 17 अप्रैल को रामनवमी के शुभ अवसर पर पूरे दिन रवि योग का शुभ संयोग रहेगा। इस शुभ संयोग में...

Related News

- Advertisement -