मामी से भांजा का था अवैध संबंध, इश्क में रोड़ा बने मामा तो भांजे ने कर दिया ये कांड

- Advertisement -

उत्तराखंड
काशीपुर/स्वराज टुडे: पुलिस ने बृजमोहन के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली है। हमेशा की तरह पुलिस ने सबसे पहले जर, जोरू और जमीन को आधार बनाकर पड़ताल शुरू की। फिर जल्दी ही दूध का दूध और पानी का पानी हो गया । इस हत्याकांड के पीछे रिश्ते को शर्मसार करने का मामला सामने आया है। दरअसल मामी के साथ अवैध संबंधों में रोड़ा बन रहे मामा को भांजे ने मौत के घाट उतार दिया था। हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

बृजमोहन हत्याकांड का ऐसे हुआ खुलासा

काशीपुर पुलिस ने बृजमोहन हत्याकांड में उसकी पत्नी और भांजे को गिरफ्तार कर पूरी वारदात का खुलासा कर दिया है। पुलिस के मुताबिक पत्नी और भांजे के अवैध संबंधों में रोड़ा बनने पर भांजे ने ही बृजमोहन की हत्या की थी। पुलिस ने हत्यारोपियों की निशानदेही पर वारदात में इस्तेमाल पत्थर, खून से सना पजामा, शराब की बोतल व डिस्पोजल गिलास बरामद किए हैं।

20 मई को बृजमोहन की रक्तरंजित मिली थी लाश

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने रविवार को हत्याकांड का खुलासा किया। बताया 20 कि मई की रात प्रतापपुर पुलिस चौकी क्षेत्र के ग्राम गोपीपुरा निवासी बृजमोहन उर्फ सोनू (32) पुत्र शिवचरन वाटर कूलर से पानी लेने के लिए घर से निकला था। काफी देर लौटकर नहीं आने पर परिजनों ने उसकी खोज की थी तो बृजमोहन का खून से सना शव एक खेत में मिला था।

मृतक के भाई बुद्ध सिंह ने पुलिस को तहरीर देकर अपने भांजे सौरभ पुत्र नरेश कुमार निवासी मुरादपुर जिला हापुड़ हाल निवासी हेमपुर डिपो पर शक जताया था। पुलिस ने सौरव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कबूल ली। एसएसपी ने बताया कि बृजमोहन की पत्नी प्रीत कौर और उसके भांजे सौरभ के अवैध संबंध थे।

आरोपी भांजा ने इस तरह दिया वारदात को अंजाम

बृजमोहन को दोनों के अवैध संबंध का पता चल गया था। करीब डेढ़ सप्ताह पूर्व सौरभ और पत्नी प्रीत कौर उर्फ लाडो ने बृजमोहन को रास्ते से हटाने की योजना बनाई थी। योजना के तहत 20 मई को सौरभ ने मामा को फोन कर शराब पीने के लिए बुलाया। मामा बृजमोहन को अधिक नशा चढ़ने के बाद पहले पत्थर से हमला किया।

फिर अपना लोअर खोलकर गला घोंटकर हत्या कर दी। घटना में प्रयुक्त कपड़े नहर किनारे कूड़े के ढेर में छिपा दिए और पत्थरों को नहर में डाल दिया। पुलिस ने मुकदमे में धारा 201/120 बी के तहत मामी और भांजे को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों को कोर्ट में पेश किया। यहां से दोनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
502FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

अधिवक्ता संघ चुनाव के मतपत्रों की गिनती फिर से होः अधिवक्ता...

जिला अधिवक्ता संघ चुनाव में गड़बड़ी की आशंका को लेकर अधिवक्ताओं के एक वर्ग ने चुनाव अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर पुनः मतगणना कराए...

Related News

- Advertisement -