मेडिकल कॉलेज में जूनियर स्टूडेंट्स के साथ सीनियरों ने की रैगिंग, कॉलेज प्रबंधन की शिकायत पर पुलिस ने दर्ज किया मामला

- Advertisement -

मध्यप्रदेश
इंदौर/स्वराज टुडे:इंदौर के महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में फिर एक बार रैगिंग का मामला सामने आया है। फर्स्ट ईयर के छात्रों ने सीनियर छात्रों पर रैगिंग करने का आरोप लगाया है। पीड़ित छात्रों की शिकायत सामने आने के बाद एमजीएम प्रबन्धन ने मामले में संयोगितागंज थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है।

कॉलेज के डीन ने कार्रवाई का दिया आश्वासन

एमजीएम मेडिकल कॉलेज में प्रथम वर्ष के छात्रों ने थर्ड ईयर के छात्रों पर प्रताड़ना, मारपीट के आरोप लगाए हैं। हालांकि डीन संजय दीक्षित ने रैगिंग के मामले में मीडिया को जवाब तलब करते हुए खुल कर कोई बात नहीं बताई है। हर सवाल के जवाब में मामले में शिकायत का मिलना और मामले की जांच होना कहकर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है।

आरोपी सीनियर छात्रों के विरुद्ध अनेक धाराओं में मामला दर्ज

वहीं रैगिंग के मामले को लेकर संयोगितागंज थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि शिकायत के बाद 8 से 10 अज्ञात छात्रों पर कई धाराओं में मामला दर्ज कर पूरे मामले में जांच की बात कही है।

पूरे घटनाक्रम में चौंकाने वाली बात ये है कि पीड़ित छात्रों ने शिकायत एमजीएम को न करते हुए दिल्ली में एंटी रैगिंग कमेटी को भेजी। वहां से ईमेल से एमजीएम प्रबंधन को सूचना मिली और फिर ताबड़तोड़ डीन डॉक्टर संजय दीक्षित के निर्देश पर एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक हुई।

अब तक ये पता नहीं चला है कि रैगिंग के शिकार छात्र कौन हैं। आरोपी छात्रों की भी जानकारी सामने नहीं आई है। ऐसा पता चला है कि पीड़ित छात्रों में हॉस्टल के छात्र नहीं हैं। इधर, देर रात संयोगितागंज पुलिस ने एमजीएम के आवेदन के आधार पर अज्ञात छात्रों के खिलाफ एंटी रैगिंग एक्ट के साथ धारा 294, 323, 506 में केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक, एमजीएम प्रबंधन व छात्रों के बयान और तकनीकी जांच के बाद कार्रवाई करेंगे।

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

सर्पदंश पर शीघ्र उपचार ही जीवन बचाने की कुंजी, पीड़ित मासूम...

छत्तीसगढ़ कोरबा/स्वराज टुडे: सर्पदंश के मामलों में पीड़ित को समय पर शीघ्र उपचार का लाभ दिया जाना ही उसका जीवन बचाने की कुंजी है। समय...

Related News

- Advertisement -