नई दिल्ली/स्वराज टुडे: राजस्थान के उदयपुर में चल रहे तीन दिवसीय चिंतन शिविर के बीच कांग्रेस को पंजाब में एक बड़ा झटका लगा है। पार्टी से असंतुष्ट कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया। जाखड़ ने फेसबुक लाइव के जरिए इसकी घोषणा की, जहां उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर आरोप लगाया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाए जाने के बाद सीएम की नियुक्ति के मुद्दे पर पंजाब के एक खास नेता की बात सुनी जा रही है।

सुनील जाखड़ ने इस दौरान कहा कि उनके परिवार की तीन पीढ़ियों ने 50 साल तक कांग्रेस की सेवा की, लेकिन इसके बावजूद “पार्टी लाइन पर नहीं चलने” के कारण उनसे पार्टी के सभी पद छीन लिए गए, जिससे उनका दिल टूट गया था। फेसबुक पर LIVE जाने से कुछ घंटे पहले सुनील जाखड़ ने अपने ट्विटर बायो से भी कांग्रेस को हटा दिया था।

आपको बता दे जाखड़ को उनके पार्टी विरोधी बयानों के लिए कारण बताओ नोटिस दिया गया था, लेकिन उन्होंने कारण बताओ नोटिस का जवाब नहीं दिया। परिणामस्वरूप, उन्हें अनुशासन विरोधी समिति ने सर्वदलीय पदों से हटाने का फैसला किया।

चिंतन शिविर में सोनिया गाँधी ने भाजपा और आरएसएस पर साधा जमकर निशाना

राजस्थान के उदयपुर में शुक्रवार से शुरू कांग्रेस के तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आज दूसरा दिन है। पहले दिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के देशभर के 400 बड़े नेता इसमें शामिल हुए हैं। सोनिया गांधी ने पहले दिन कांग्रेस नेताओं को संबोधित किया, जहां उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार नफरत फैला कर अल्पसंख्यकों को दबा रही है।

उन्होंने आगे कहा, “भाजपा-आरएसएस की नीतियों की वजह से देश जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उसपर विचार करने के लिए ये शिविर एक बहुत अच्छा अवसर है।”


यह भी पढ़ें: दुष्कर्म की शिकार किशोरी ने स्वस्थ पुत्र को दिया जन्म, दुबई भागे आरोपी को भारत लाने के प्रयास में जुटी पुलिस


यह भी पढ़ें: तिल्दा के जैन परिवार के चार सदस्यों की घर पर मिली लाश…दो बच्चों को जहर, पत्नी फांसी के फंदे पर और पति का शव फर्श पर