राजस्व मंत्री श्री अग्रवाल और सांसद श्रीमती महंत ने समूहों के बनाये उत्पाद खरीदकर किया सी-मार्ट का शुभारंभ

- Advertisement -

सी-मार्ट से स्व सहायता समूह होंगी सशक्त, महिलाओं का होगा आर्थिक विकास: राजस्व मंत्री श्री अग्रवाल

एक ही छत के नीचे मिलेगा महिलाओं द्वारा निर्मित सामान एवं स्थानीय उत्पाद

स्व सहायता समूहों के उत्पादों के ब्रांड हसदेव का भी हुआ शुभारंभ

सी-मार्ट से जिले की महिलाओं द्वारा बनाये सामान को बेचने के लिए मिला स्थानीय बाजार

कोरबा/स्वराज टुडे: जिले की स्व सहायता समूह की महिलाओं को आर्थिक बल देने तथा उनके द्वारा बनाये जा रहे स्थानीय उत्पादों को बेचने के लिए जगह प्रदान करने के उद्देश्य से कोरबा शहर में सी-मार्ट प्रारंभ हो गया है। राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल एवं सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत ने पाली तानाखार विधायक श्री मोहित राम केरकेट्टा एवं जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में टी.पी. नगर चौक स्थित सी-मार्ट का लोकापर्ण किया। साथ ही जिले की महिला समूहों के उत्पादों के ब्रांड हसदेव का भी शुभारंभ किया गया। राजस्व मंत्री और सांसद ने सी-मार्ट से हसदेव ब्रांड के साबुन, शहद, पापड, अगरबत्ती, कोदो राइस, अरहर दाल और आम के आचार आदि खरीदकर सी-मार्ट की पहली बोहनी कराई। उन्होने जनप्रतिनिधियों के साथ सी-मार्ट में रखे गये उत्पादों का अवलोकन किया तथा स्थानीय उत्पादों की गुणवत्ता और कम कीमत मे उपलब्धता की तारीफ करते हुए सभी लोगो से सी-मार्ट में सामान खरीदकर महिलाओं को प्रोत्साहित करने की अपील की।

 

इस अवसर पर राजस्व मंत्री श्री अग्रवाल ने सभी को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप समूह की महिलाओं के द्वारा बनाए गए उत्पाद के बिक्री के लिए जगह उपलब्ध कराने के लिए जिला मुख्यालय में सी-मार्ट की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। ताकि स्व सहायता समूह की महिलाओं को अच्छा बाजार मिल सके जिससे महिलाओं को आर्थिक लाभ हो। उन्होने कहा कि सी-मार्ट से जिले की स्व सहायता समूह की महिलाओं को बल मिलेगा। इससे समूह सशक्त होगी तथा महिलाओं का अधिक आर्थिक विकास होगा। सी-मार्ट में एक ही छत के नीचे सभी जरूरत की चीजे लोगो को आसानी से उपलब्ध होगी। साथ ही महिलाओं द्वारा उत्पादित विशिष्ट उत्पाद जैसे कोसा साडी, चांवल, दाल, आचार-पापड, मसाले, साबुन, फिनाइल आदि उपलब्ध रहेगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही श्रीमती ज्योत्सना महंत ने कहा कि शासन ने महिलाओं को सम्मान देने तथा उन्हे आगे बढाने के लिए सी-मार्ट की योजना लागू की हैं। सी-मार्ट महिलाओं के सशक्तिकरण में नया आयाम है। इससे महिलाओं को आर्थिक बल और सहयोग मिलेगा। जिससे समूह की महिलाओं के घर परिवार की आर्थिक स्थिति और बेहतर होगी। पाली तानाखार विधायक श्री मोहित राम केरकेट्टा ने कहा कि शासन द्वारा महिला समूहों को स्वावलंबी बनाने और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए सी-मार्ट बहुत उपयोगी कदम है। इससे महिलाओं को निश्चित रूप से अधिक आर्थिक लाभ होगी। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप जिले की स्व सहायता समूहो को आगे बढाने के लिए तथा मेकइन इंडिया की तर्ज पर जिले की स्थानीय उत्पादों को बढावा देने के लिए सी-मार्ट का शुभारंभ किया गया है। इससे महिला समूहों की उत्पादन क्षमता बढेगी। उत्पादन गतिविधियां बढने से महिलाओं को रोजगार के अधिक अवसर प्राप्त होंगे। कलेक्टर श्रीमती साहू ने कहा कि जिले के समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों को कोरबा की जीवन दायिनी हसदेव नदी के नाम पर हसदेव ब्रांड नाम दिया गया है। उन्होने सी-मार्ट को महिलाओं के आत्मनिर्भर बनने में बडा कदम बताते हुए नागरिकांे से सी-मार्ट मंे रखे गये उत्पादों की खरीदी करने की अपील की। सी-मार्ट के लोकापर्ण समारोह में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शिवकला कंवर, नगर निगम के सभापति श्री श्यामसुंदर सोनी, राज्य महिला आयोग की सदस्य श्रीमती अर्चना उपाध्याय, पुलिस अधीक्षक श्री भोजराम पटेल, जिला पंचायत सीईओ श्री नूतन कंवर, नगर निगम आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय, जनप्रतिनिधियों अन्य अधिकारी कर्मचारियों सहित नागरिकगण मौजूद रहे।
उल्लेखनीय है कि शहर में स्थापित सी मार्ट का संचालन पीपीपी मॉडल के तहत् के रामसा एलाईड इन्टरप्राइजेस प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। सी-मार्ट में महिला समूहों के उत्पादों की बिक्री पर समूहों को सुनिश्चित लाभ होगा। सी-मार्ट सुपर मार्केट की तर्ज पर पूरी तरह वातानुकूलित है। इसमें कम्प्यूटराइज्ड दो बिलिंग काउंटर बनाये गये है। सी-मार्ट में उच्च गुणवत्ता युक्त उत्पाद बाजार भाव से कम दर पर उपलब्ध है। साथ ही पारंपरिक एवं स्थानीय उत्पादों को बढावा दिया गया है। जिले की महिला समूहों द्वारा बनाये गये हवाई चप्पल तथा एलईडी बल्ब भी कम कीमत पर सी-मार्ट में उपलब्ध है। सी-मार्ट में 250 से अधिक प्रकार के उत्पाद उपलब्ध है। इनमें नीम का साबुन, सेनेटरी पेड, डिसवॉस, हल्दी, मिर्ची, धनिया पाउडर, मसाले, काजू, नमकीन, चना, आटा, बेसन, जीरा फूल चांवल आदि शामिल है। सी-मार्ट में जिले में कार्यरत स्व सहायता समूहों द्वारा बनाए गए उत्पाद तथा स्थानीय उत्पाद सुपर मार्केट के रूप में एक ही छत के नीचे नागरिकों के खरीदी के लिए उपलब्ध है। समूहों द्वारा बनाए जा रहे स्थानीय उत्पाद जैसे अचार, पापड़, मसाले, महुआ के उत्पाद, अगरबत्ती, काजू, डेली नीड के समान, साबुन, फिनॉइल, हाइजीन प्रोडक्ट्स, सेनेटरी नैपकीन, वनोपज से निर्मित उत्पाद, अश्वगंधा चूर्ण, गिलोय, मुलेठी जैसे वन औषधि , एलोवेरा, आमला, महुआ लड्डू आदि से लेकर दैनिक उपयोग की वस्तुएं भी सी मार्ट में उपलब्ध है। साथ ही शिल्पकारों, बुनकरों, दस्तकरों, कुम्भकरों और अन्य पारंपरिक एवं कुटीर उद्योगों द्वारा निर्मित उत्पाद भी बिक्री के लिए उपलब्ध है।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

‘7 दिन में शादी करो, वरना जेल जाओ’, सीएमओ ने छात्रा...

मध्यप्रदेश शहडोल/स्वराज टुडे: मध्य प्रदेश की धनपुरी नगर पालिका के सीएमओ प्रभात बरकड़े को दुष्कर्म के मामले में सशर्त जमानत मिली है। पुलिस ने उन्हें...

Related News

- Advertisement -