शर्मनाक: समुदाय विशेष की छात्रा को डांटने पर परिजनों ने महिला टीचर को निर्वस्त्र कर पीटा

- Advertisement -

पश्चिम बंगाल
दक्षिण दिनाजपुर/स्वराज टुडे: पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले में एक छात्रा को डांट देने पर खास समुदाय के लोगों ने महिला टीचर के साथ मारपीट की. इस दौरान टीचर के कपड़े भी फट गए. यह घटना शुक्रवार दोपहर पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले के हिली थाना इलाके के त्रिमोहिनी प्रताप चंद्र हाई स्कूल की बताई जा रही है.

गुस्साए छात्रा के परिजन भीड़ के साथ स्कूल में घुस आए

जानकारी के अनुसार, हिली थाना क्षेत्र के त्रिमोहिनी प्रताप चंद्र हाई स्कूल में एक छात्रा को महिला टीचर ने डांट दिया था. इसके एक दिन बाद शुक्रवार की दोपहर छात्रा के परिजन भीड़ के साथ अचानक स्कूल में घुस गए. इन लोगों ने प्रधानाध्यापक के सामने मामले की शिकायत की. आरोप है कि इसी दौरान कुछ लोग कथित तौर पर शिक्षिका के कमरे में घुस गए और एक महिला टीचर के साथ मारपीट की और अभद्रता की. बताया जा रहा है कि 9वीं कक्षा की छात्रा अल्पसंख्यक समुदाय से संबंध रखती है.

उग्र विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिस ने 4 लोगों को किया गिरफ्तार

घटना की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में पुलिस बल तुरंत स्कूल पहुंच गया और मामले को शांत कराया. वहीं, घटना को लेकर स्थानीय लोगों में आक्रोश है. घटना के विरोध में शनिवार को स्थानीय लोगों सड़क पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया. इस मामले की शिकायत स्कूल प्रबंधन ने हिली थाने में दर्ज कराई. पुलिस ने रविवार को टीचर के साथ मारपीट करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

बीजेपी सांसद और प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने की सख्त कार्रवाई की मांग

रविवार को बीजेपी सांसद और प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने इलाके का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की. उन्होंने महिला टीचर के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की.

बीजेपी सांसद सुकांत मजूमदार ने कहा, ”मैं भी शिक्षक था. कई छात्रों को डांटा भी है. शिक्षिका ने एक छात्रा को डांट दिया तो नतीजा यह हुआ कि उसके परिवार सहित अन्य दो सौ लोगों ने स्कूल पर हमला कर दिया. मुझे आश्चर्य है कि स्कूल के प्रधानाध्यापक ने प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई.”

इस मामले को लेकर भाजपा की युवा विंग के प्रदेश उपाध्यक्ष और वकील तरुणज्योति तिवारी ने ट्वीट किया है. बताया जा रहा है कि नौवीं कक्षा की छात्रा ने हिजाब पहन रखा था. शिक्षिका ने कथित तौर पर उसे क्लास में नहीं जाने दिया.

समुदाय विशेष के खौफ से पुलिस ने शुरू में दर्ज नहीं की FIR

दीदीमोनी पुलिस की मामला दर्ज करने की हिम्मत नहीं हुई. अगले दिन जब स्थानीय लोगों ने विरोध किया और सड़क जाम कर दी तो पुलिस ने 35 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की.

पीड़ित शिक्षिका ने कहा- अब स्कूल जाने में लग रहा डर

घटना के संबंध में पीड़ित शिक्षिका ने कहा कि छात्रा को अनुशासित करने के लिए उसके कान खींचकर डांट दिया था. लेकिन ऐसी घटना पहले कभी नहीं हुई. हमें अब असुरक्षा महसूस हो रही है.

स्कूल के प्रधानाध्यापक ने कही यह बात

स्कूल के प्रधानाध्यापक कमल कुमार जैन ने कहा, ”मुझे सुरक्षा की कमी लग रही है. जो हुआ है, हमें उसकी उम्मीद नहीं थी. मैंने उस दिन बीडीओ और प्रेसिडेंट को फोन कर जानकारी दी थी. हम बारे में सभी प्रतिनिधियों से बात करेंगे.”

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
501FansLike
50FollowersFollow
780SubscribersSubscribe

शाबाश यूपी पुलिस: एनकाउंटर में मारे गए बदमाश की बेटी का...

उत्तरप्रदेश जालौन/स्वराज टुडे: उत्तर प्रदेश की जालौन पुलिस ने अनोखी मिसाइल पेश की है. पुलिस की मुठभेड़ में एक अपराधी रमेश मारा गया था. यह...

Related News

- Advertisement -