वैटिकन सिटी/स्वराज टुडे: ईसाइयों के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप फ्रांसिस लगातार अपने बयानों के कारण सुर्खियों में रहते हैं। 85 वर्षीय पोप फ्रांसिस ने एक बार फिर से ऐसा बयान दिया है जो तेजी से वायरल हो रहा है।

पोप फ्रांसिस ने कहा है कि शादी से पहले सेक्स करने से इंकार करना सच्चे प्यार की निशानी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शुद्धता, पवित्र प्रेम करना सिखाती है।

रिश्ते को सुरक्षित रखने का बेहतर तरीका

पोप फ्रांसिस ने शादी से पहले सेक्स करने से परहेज करने के कदम को एक बेहतर फैसला बताया। उन्होंने कहा कि शादी तक सेक्स करने से इंकार करना इस पवित्र रिश्ते को सुरक्षित रखने का एक आदर्श तरीका है। पोप फ्रांसिस ने यह भी दावा किया कि आजकल के रिश्ते सेक्स तनाव या दवाब के कारण जल्दी टूटते हैं।

अधिक बच्चे पैदा करने का आग्रह

पोप फ्रांसिस ने सेक्स पर अपनी टिप्पणी तब की जब वे पश्चिम देशों में जनसांख्यिकी बदलाव की समस्या के हल के रूप में लोगों से अधिक बच्चे पैदा करने के बारे में बात कर रहे थे। वेटिकन सिटी में पैरेंटहुड को लेकर एक बयान में पोप ने लोगों से आग्रह किया था कि वे बच्चे पैदा करने से न डरें। पोप ने कहा कि बच्चे होना हमेशा एक जोखिम होता है लेकिन बच्चा न होना उससे अधिक जोखिम का काम है।

अधिक इंटरनेट इस्तेमाल की आलोचना

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक 97 पेज की नई वैटिकन गाइड में पोप ने खुशहाल संबंधों के नियम बताए। 97 पन्नों के वैटिकन गाइड डॉक्यूमेंट में इंटरनेट के अधिक इस्तेमाल की आलोचना की गई है। इटली के धर्मशास्त्री वीटो मैनकुसो के मुताबिक पोप की टिप्पणी ने रिश्ते में सेक्स का महत्व कम कर दिया है।

लोगों ने दी प्रतिक्रिया

हालांकि पोप के बयानों पर लोगों ने अलग अलग प्रतिक्रिया दी है। पोप के बहुत सारे लोगों को पोप का बयान पसंद नहीं आया तो वहीं कई लोगों ने इसका खुलकर समर्थन किया है। कुछ दिनों पहले पोप ने अपने बच्चों से अधिक पालतू जानवरों को प्रेम करने वालों को स्वार्थी बताया था। उन्होंने कहा था कि बच्चों से ज्यादा पालतू जानवरों को प्रेम करना हमारी मानवता छीन लेता है।