छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे: होली रंगों का त्योहार है। इसे बड़े ही उत्साह और हर्ष के साथ मनाया जाता है। पहले पारंपरिक होली फूलों, सूखे गुलाल, और पानी के साथ मनाई जाती थी, लेकिन अब सिंथेटिक रंगों ने इसकी जगह ले ली है। जिसका दुष्प्रभाव न केवल हमारी त्वचा तथा बाल, आंखों में भी पड़ता हैं यह हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है।

त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अनिल मिश्रा एवं डॉक्टर सुमेधा वर्मा ने दी महत्वपूर्ण सलाह

होली की मस्ती के साथ-साथ उत्सव के दौरान अपनी त्वचा और बालों की देखभाल करना भी महत्वपूर्ण है। इसलिए इस होली में कुछ बातों का ध्यान रखने की सलाह त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. अनिल मिश्रा एवं डॉ. सुमेधा वर्मा देतें हैं।

डॉ. वर्मा बताती हैं कि होली से एक दिन पहले अपनी त्वचा को ढेर सारे मॉइस्चराइजर से हाइड्रेट करें। अच्छी तरह से हाइड्रेटेड त्वचा नाजुक नहीं होती है जो आसानी से क्षतिग्रस्त नहीं होगी। होली के दिन अपने बालों में नारियल का तेल, शरीर पर बेबी ऑयल और होंठों पर लिप बाम लगाएं एवं अपनी त्वचा को सुरक्षित रखें। तेल लगाने के बाद सनस्क्रीन लगाना न भूलें। कपड़े पूरी बाजू के पहनें ताकि त्वचा को नुकसान कम से कम हो। अपने नाखूनों की सुरक्षा के लिए नेल पॉलिश लगाएं। होली के दिन भी खूब पानी पिएं और हाइड्रेटेड रहें।

होली खेलने के बाद त्वचा और बालों की देखभाल के। लिए ये हैं टिप्स

होली के बाद त्वचा और बालों की देखभाल के टिप्स देते हुए डॉ.मिश्रा बतातें हैं कि एक बार जब रंग थोड़ा फीका हो जाए, तो त्वचा को हाइड्रेट और मॉइस्चराइज करने के लिए मेडिकल फेशियल करवाना चाहिए। यह आपको आकर्षक लुक वापस पाने में मदद करेगा।अगर आपको लगता है कि आपकी त्वचा हल्की फट रही है, तो एलोवेरा जेल या लैक्टोकैलेमाइन लोशन लगाएं, लेकिन अगर दाने बने रहते हैं, तो बिना किसी देरी के त्वचा विशेषज्ञ से मिलें।बालों को धोने से पहले सप्ताह में एक बार प्राकृतिक हेयर मास्क का उपयोग करें।

होली खेलने में हर्बल रंगों का ही करें इस्तेमाल और दूसरों को भी दें सलाह

डॉ. वर्मा सुझाव देती हैं कि होली खेलने में अधिक पानी, फूलों की पंखुड़ियों और ऑर्गेनिक रंग का उपयोग करना बेहतर है। डॉ. अनिल मिश्रा, एम.डी.(स्किन एंड वी.डी.) चर्मरोग विशेषज्ञ एडीसी निहारिका कोरबा में नियमित रूप से उपलब्ध रहते है। वही डॉ. सुमेधा एस. वर्मा, त्वचा रोग विशेषज्ञ 20 मार्च को एडीसी निहारिका कोरबा में उपलब्ध रहेंगी।