यूक्रेन में पिछले 10 दिनों में रूस की तरफ से हमले तेज किए गए हैं। यूक्रेन में पहले मिसाइल और फिर ड्रोन से हमले किए गए हैं।

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: यूक्रेन में सुरक्षा की बिगड़ती स्थिति और हाल ही में हुए हमलों को देखते हुए भारतीय दूतावास ने एडवाइजारी जारी की है। बुधवार (19 अक्टूबर) को भारतीय दूतावास ने कहा कि भारत के नागरिकों को यूक्रेन (Ukraine) की यात्रा न करने की सलाह दी जाती है। दूतावास ने यूक्रेन में मौजूद छात्रों सहित भारतीय नागरिकों को जल्द से जल्द यूक्रेन छोड़ने की सलाह दी है।

बुधवार को ही रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के चार क्षेत्रों में मार्शल लॉ की घोषणा की है। ये क्षेत्र हैं- लुहान्स्क, डोनेट्स्क, ज़ापोरिज्जिया और खेरसॉन, इन पर रूस ने अवैध रूप से कब्जा कर लिया था। मार्शल लॉ की घोषणा के बाद रूस के सभी क्षेत्रों के प्रमुखों को अतिरिक्त आपातकालीन शक्तियां मिल गई हैं।

जानिए क्या कहा व्लादिमीर पुतिन ने ?

व्लादिमीर पुतिन ने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान कहा कि मैंने रूसी संघ के इन चार विषयों में मार्शल लॉ लागू करने के लिए एक डिक्री पर हस्ताक्षर किए हैं। जिसके बाद क्रेमलिन ने एक डिक्री प्रकाशित की जिसमें कहा गया कि गुरुवार की शुरुआत से क्षेत्रों में मार्शल लॉ लागू हो जाएगा।

यूक्रेन पर हमले बढ़े

रूस की ओर से हाल ही में यूक्रेन (Ukraine) पर हमले भी तेज कर दिए गए हैं। बीते सोमवार (17 अक्टूबर) को ही यूक्रेन के कई शहरों पर ड्रोन से हमले (Drone Attack) किए गए थे। यूक्रेन की ओर से कहा गया था कि ड्रोन हमले में छह लोगों की जान गई है जिसमें एक गर्भवती महिला भी शामिल थी। इससे पहले 10 अक्टूबर को भी रूस (Russia) की तरफ से यूक्रेन में करीब 84 मिसाइलें दागी गई थीं। इस हमले में 19 लोगों की मौत हुई थी।


यह भी पढ़ें: फर्जी पुत्र बनकर एसईसीएल में 27 साल से कर रहे थे नौकरी, राज खुलते ही 4 लोगों पर FIR दर्ज


यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ सरकार ने गोबर से पेंट बनाकर किया नया कीर्तिमान स्थापित, दीपावली पर बढ़ी गोबर पेंट की डिमांड, जानिए इसके फायदे