रायगढ़, कोरबा, बिलासपुर और जांजगीर की कोल वाशरियों व कोल डिपो में मिली बड़ी गड़बड़ियां, करोड़ों रुपए की हेराफेरी

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे: रायगढ़, कोरबा, बिलासपुर और जांजगीर-चांपा जिले की कोल वाशरियों एवं कोल डिपो में गड़बड़ियों की शिकायत की जांच के लिए एक सप्ताह पूर्व राज्य सरकार के जांच दल ने छापा मारा था, जिसमें बड़ी गड़बड़ियां सामने आई है. कोल वाशरियों एवं कोल डिपो पर राज्य सरकार के खनिज, राजस्व, पुलिस, जीएसटी विभाग, पर्यावरण विभाग के संयुक्त जांच दल ने ताबड़तोड़ छापे मारे थे.

प्रारंभिक आंकलन में जीएसटी, माईनिंग रायल्टी में लगभग 300 करोड़ रुपए राशि की गैर कानूनी रूप से हेराफेरी सामने आई हैै. पर्यावरण नियमों का उल्लंघन भी पाया गया है. कुछ मामलों में शासकीय भूमि, नॉन डायवर्टेड जमीन तथा आदिवासियों की जमीन का उपयोग पाया गया है. कुछ जगहों में नहर के रास्ते का गैर कानूनी रूप से उपयोग किया जा रहा है. विस्तृत विवेचना में अभी एक सप्ताह और लगेगा.

गौरतलब है कि कोल वाशरियों एवं कोल डिपो में कोयले के स्टाक में गड़बड़ी सहित अन्य शिकायतों के मद्देनजर छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से खनिज, राजस्व, पुलिस एवं जीएसटी विभाग के अधिकारियों की गठित की गई संयुक्त टीमों ने 10 दिन पूर्व दबिश दी थी. कोयले के स्टाक सहित आवक-जावक, पर्यावरण नियम के उल्लंघन, भूमि संबंधी दस्तावेजों में कमियां, वेवब्रिज के कैलिब्रेशन में अंतर एवं अन्य कमियों की जांच की जा रही है.

बिलासपुर में इन स्थानों पर जांच कर रही टीम
संयुक्त टीम बिलासपुर जिले के गतौरा एवं हिंडाडीह स्थित हिंद एनर्जी, हिंद मल्टी, क्लीन कोल वाशरियों तथा गतौरी स्थित सत्या पावर कोल वाशरी, फील वाशरी में दबिश देकर जांच-पड़ताल की कार्रवाई कर रही है. इसी तरह अधिकारियों की संयुक्त टीम जांजगीर-चांपा जिले के बलौदा स्थित मेसर्स क्लीन कोल इंटरप्राईजेस, मेसर्स हिन्द एनर्जी एंड कोल बेनिफिकेशन के यहां दबिश देकर कोल स्टाक की जांच में जुटी हुई है. रायगढ़ जिले की कोल वाशरियों एवं कोल डिपो में भी जांच-पड़ताल की कार्रवाई जारी है.

कोरबा जिले में भी चल रही जांच-पड़ताल
कोरबा जिले में संयुक्त टीम ने कोल वाशरी दीपका, गेवरा, चाकाबुर्रा, रैकी, रतीजा, मारुति, इंडस उद्योग एंड प्राइवेट लिमिटेड, कोठरी तथा पावर प्लांट क्रमश: चकाबूरा, रतीजा पावर 50ग2, मारुति 300 मेगावाट, रेकी पावर 63 मेगावाट में अधिक मात्रा में कोल स्टॉक, पर्यावरण के नियमों का उल्लंघन, भूमि संबंधी दस्तावेजों में कमियां, वेवब्रिज के कैलीब्रेशन में अंतर तथा अन्य कमियों की सघन जांच-पड़ताल की कार्रवाई की जा रही है.

*पुष्पेंद्र श्रीवास की रिपोर्ट*

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
800SubscribersSubscribe

नक्सलवाद पर सर्जिकल स्ट्राइक! देश का सबसे बड़ा सफल ऑपरेशन, गृह...

सुरक्षा बलों के जवानों ने 29 नक्सलियों को मार गिराया। इनमें से कुछ हार्डकोर नक्सली भी शामिल हैं। नक्सल मोर्चे पर पहली बार ऐसा...

Related News

- Advertisement -